Mrs. Kusum Acharya Ji’s book, Anubhuti, selected in huge literature competition

WhatsApp Image 2020-09-11 at 1.44.59 PM (1)आज पुष्करणा समाज के लिए बहुत ही हर्ष और उल्लास की बात है क्योंकि हमारे समाज के आचार्य वंश की कुलवधू और गज्जा वंश की पुत्री श्रीमती कुसुम आचार्य जी एक पुस्तक अनुभूति, एक बहुत ही बड़ी साहित्य प्रतियोगिता में चयनित की गई है।

यह प्रतियोगिता कलम कार मंच, जयपुर , राजस्थान द्वारा आयोजित की गयी थी।

इस प्रतियोगिता में 88 रचनायें विभिन्न लेखको द्वारा भेजी गई थी। उनमे से केवल 26 रचनाओं को ही कलमकार मंच ने प्रकाशित किया और उन सभी पुस्तकों का बड़े बड़े जाने माने साहित्यकारों द्वारा विमोचन करवाया।
यह कार्यक्रम 30 अगस्त 2020 को यूथ होस्टल , जयपुर में किया गया। श्रीमती कुसुम आचार्य जी की रचना, अनुभूति, में कुछ सच्ची घटनाओं को कहानियों के रूप मे प्रस्तुत किया है।

इस पुस्तक में 8 कहानियां है । कुसुम आचार्य जी ने विमोचन के इस अवसर पर स्वयं कहा कि उन्हें खुशी होगी कि कहानी का कोई भी पात्र पाठक के दिल को छू जाए और उससे प्रभावित हो जाये तो उनका यह प्रयास सार्थक होगा।

हम केन्द्रीय पुष्करणा ब्राहमण सभा ( रजिस्टर्ड) की और से श्रीमती कुसुम आचार्य ओर उनके पति श्री चंद्र कांत आचार्य, जो कि हमारी सभा के सचिव भी है, उनको बधाई और अनन्त शुभकामनाएं प्रेषित करते है आशा करते है कि भविष्य में भी ऐसी सुंदर रचनाओं से कुसुम जी हमे लाभान्वित करती रहेँगी

2 thoughts on “Mrs. Kusum Acharya Ji’s book, Anubhuti, selected in huge literature competition”

  • बहुत बहुत अभिनन्दन। यह वास्तव में हमारे पुष्करणा समाज के गौरव का विषय है। सरस्वती देवी की असीम कृपा हमारे पुष्करणा समाज पर हमेशा से है। इस प्रकार की और भी प्रतिभाओं को प्रोत्साहन दे कर आगे लाना चाहिए।
    एक बार फिर शुभाशीर्वाद।

  • आचार्य एवं गज्जा वंश के लिए अत्यंत गौरव के छण हैं। आदरणीय श्रीमती कुसुम जी आचार्य की एक और महान उपलब्धि (विजयी भव पहली रचना भी अद्भुत है और वो भी साहित्य के क्षेत्र मैं बहुत सराही गयी थी)
    आप साहित्य की ऐसे ही सेवा करते रहें यही आचार्य वंश के बाल अबाध की मनो एवं शुभ कामनाएं हैं.
    आचार्य कमल भरद्वाज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll Up